शुक्राणु (स्पर्म) बढ़ाने के घरेलू उपाय, आहार, योग और तरीके

शुक्राणु (स्पर्म) बढ़ाने के घरेलू उपाय, आहार, योग और तरीके -


शुक्राणु (स्पर्म) बढ़ाने के घरेलू उपाय एक स्वस्थ शुक्राणु की संख्या 15 लाख प्रतिमिली लीटर होती है। जो कारक टेस्टोस्टेरोन को इफ़ेक्ट करते है वे स्पर्म को भी प्रभावित करते है। यहाँ बताये गए कुछ आहार एवं तरीके शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में मदद कर सकते है -


शुक्राणु संख्या क्या है - what is sperm count in hindi


प्रति मिलीलीटर वीर्य में औसतन पंद्रह मिलियन शुक्राणु होते है।  लेकिन इससे कम होने पर इसे ओलिगोस्पर्मिया कहते है और जब बिलकुल ही स्पर्म खत्म  तो उस स्थति को एजोस्पर्मिया  कहते है। कभी-कभी स्पर्म की औसत संख्या होने पर भी प्रेग्नेंसी में समस्या आती है इसका एक कारण स्पर्म का स्वस्थ न होना भी है। स्वस्थ स्पर्म ही गर्भाशय ग्रीवा से फैलोपियन ट्यूब तक जा पाते है।  

शुक्राणुओ की कम संख्या व्यक्ति के प्रजनन को इफ़ेक्ट करती है।  ख़राब लाइफस्टाइल, आहार, विटामिन्स इनके नंबर्स को प्रभावित करते है। 

शुक्राणुओ संख्या कम होने के कारण - reasons of low sperm in hindi

पेनिस  की नसों में सूजन इसे वैरीकोसेल कहते है  के  कारण ।
गुप्त संक्रमण के कारण। 
हार्मोन्स इम्बैलेंस। 
क्रोमोसोम में दोष होना। 
कुछ विशेष प्रकार  थेरेपी जैसे -कीमोथेरपी आदि कारण। 
अधिक गर्म पानी से स्नान की आदत। 
नशीले [पदार्थो के अधिक सेवन से। 
मोटापा। 
परिवार में पहले से किसी को होना।  
  


शुक्राणु  कमी के लक्षण - causes of low sperm count in hindi


पेनिस में दर्द 
चेहरे पर बाल  कम  होना 
कामेच्छा में कमी 
साझेदार को गर्भधारण न करा पाना 
शीघ्रपतन 
लिंग में तनाव न होना 

 

शुक्राणुओं को बढ़ाने के घरेलू तरीके - how to increase sperm count in hindi

धूम्रपान छोड़े यह स्पर्म की संख्या को कम करता है।  ऐसा नहीं कि जो लोग स्मोकिंग नहीं करते है उनमे स्पर्म नंबर अधिक सदैव अधिक रहते है लेकिन धूमप्रान भी इनकी नंबर घटने का एक कारक है। 

जिंक से भरपूर पदार्थ का ग्रहण करे।  जिंक स्पर्म को बढ़ाने में मदद करता है। जिंक की कमी से अक्सर शुक्राणुओं क्वालिटी गिर जाती है। 

विटामिन्स सी भी स्पर्म क्वालिटी सुधारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।  

तनाव न लें।  

ऐसे आहार एवं पदार्थो को कम खाना जिसमे सोया सॉस का इस्तेमाल होता है। 

शराब का सेवन बंद करे। 

प्रोसैसेड मांस न खाये। 

वजन को संतुलित रखे।

लाइफस्टइल में एक्सरसाइज करने की आदत डालें। 

शुक्राणुओं को बढ़ाने वाले वाले आहार - food increase to sperm count in hindi

कुछ आहार (फ़ूड) है जो स्पर्म वृद्धि में सहायक होते है उनके बारे जानिए -

चॉकलेट से बढ़ाये शुक्राणु 


जी हाँ।  चॉकलेट आपके स्पर्म की संख्या को बढ़ाने में मदद कर सकता है।  दरअसल, डार्क चॉकलेट में एक खास तरह का एमिनो एसिड पाया जाता है जिसे अल आर्जिनिन कहते है।  

कद्दू के बीज से बढ़ाये शुक्राणु 


कद्दू के बीज में सबसे अधिक प्रोटीन के साथ एक तत्व और फाइटोस्टेरोल होता है जो  टेस्टोरोन को बढ़ाता है जन टेस्टरोंन का उत्पादन बढ़ता है तो स्पर्म के नंबर में भी इजाफा होता है। 

लसहुन शुक्राणु को बढ़ाने में असरदार 


लहसुन में सेलेनियम होता है जो वीर्य और स्पर्म को बढ़ाने का कार्य करता है।  यह सबसे आसान उपाय है।    कच्चा लहसुन खाने के साथ खा सकते है। 

केला शुक्राणु   फायदेमंद 


केला खाये इसमें ब्रोमेलैन एन्ज़ाइम होता है जिससे कामेच्छा की उत्तेजना बढ़ती है। 

शतावरी शुक्राणु की संख्या बढ़ाये 


शतावरी का सेवन करे।  शुक्राणुओं को बढ़ाने और फर्टिलिटी में सहायक होता है। 

टमाटर शुक्राणुओं के लिए 


जैसा की सभी को पता है कि टमाटर में लाइकोपीन होता है इसके अलावा विटामिन ए और सी और कई तरह के गुण होते है।  यदि एक दिन में दो बार इसका सेवन करते है दो यह शुक्राणुओ में वृद्धि करता है। 

शुक्राणु बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाए -  aayurvedic treatment of increase sperm count i n hindi

शुक्राणुओ को बढ़ाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक उपाए भी है आईये इन्हे जानते है -

अश्वगंधा 


अश्वगंधा शुक्राणुओं(स्पर्म) के वृद्धि में फायदेमंद है।  तकरीबन 600mg अश्वगंधा का सेवन आपकी प्रजनन को सुधर सकता है। 

हरी मिर्च 


सिमित मात्रा में ही सही हरी मिर्च खाये।  हरी मिर्च तनाव को कम करने का कार्य करता है। 

गोकशूरा


गोकशूरा स्पर्म की क्वालिटी और काउंट दोनों के लिए लाभदायक है।  इसके कैप्सूल का सेवन कर सकते है।  लेकिन डॉक्टरी सलाह अनिवार्य है।  

हॉर्नी गोट वीड


हॉर्नी गोट वीड  बकरी से प्राप्त होता है इसे तकरीबन 10 ग्राम सेवन से फर्टिलिटी और शुक्राणुओ की वृद्धि में सुधार होता है।   

 

शुक्राणु बढ़ाने वाले बेस्ट योग - yoga for increse sperm count in hindi


अध्ययन के अनुसार जो व्यक्ति प्रायः योग करते है उनमें तनाव का स्तर कम रहता है तथा ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है साथ ही स्पर्म काउंट व फर्टिलिटी बढ़ती है। यहाँ वे योग के बारे में बताया गया जो स्पर्म में गतिशीलता और फर्टिलिटी में फायदेमंद है - 


सेतू बंधासन 




यह आसान स्पर्म काउंट को वृद्धि के लिए सबसे अच्छा है इस आसान में प्रजनन अंगो का ब्लड सर्कुलेशन  बेहतर रहता है। 

धनुरासन 




इस आसन के लिए बॉडी को धनुष का पोज देना पड़ता है।   इस योग को करने से स्पर्म  उत्पादन भलीभांति होने में हेल्प होती है। 

अग्निसार क्रिया 


इस  क्रिया से शुक्राणु स्वस्थ  होते है जिससे प्रजनन में आसानी रहती है।  इसे करने के लिए दोनों हाथों को घुटनो पर रखे और कंधो को ऊपर की ओर खींचे रहे ।  सांस को बाहर की छोड़े और रोके रोके रहे।  आँखों को बंद कर ले।  अब पेट को अंदर और बाहर की ओर गति करते हुए हिलाये।  

हलासन 




हलासन करने से स्पर्म की गतिशीलता बढ़ती है  रीढ़ को  मजबूती मिलती है। 


शुक्राणुओं की कमी का इलाज - treatment of low sperm in hindi


यदि  गुप्तांगो में किसी प्रकार का संक्रमण  तो  इलाज करवाए। 

हार्मोन्स असंतुलन के स्पर्म में कमी है तो इसके लिए भी दवाये दी जाती  है। 

पेनिस में सूजन है तो सर्जरी भी की जाती है। 
\