मेटाबोलिज्म(चयापचय) बढ़ाने वाले 12 तरीके और आहार - how to boost metboilsm in hindi

मेटाबोलिज्म(चयापचय) बढ़ाने वाले 12 तरीके और आहार - how to boost metboilsm in hindi
metabolism boost


मेटाबोलिज्म कैसे बढ़ाये जब व्यक्ति का मेटाबोलिज्म बहुत  स्लो (धीमा) होता है तो  वजन बढ़ने लगता है।  हमारा शरीर लगातार कैलोरी  बर्न करता है  लेकिन यह क्रिया बहुत धीरे होती है और तब तक हम और कैलोरी ग्रहण कर चुके होते है। ऐसे में कुछ आहार और पदार्थ होते है जो चयापचय को बढ़ाते है। इस आर्टिकल में हम जान सकते है food to boost metabolism in hindi 


 मेटाबोलिज्म(चयापचय) क्रिया क्या है - what is metaboilc system in hindi

metaboilsm ka hindi arth -अधिक व्यायाम करने के बाद भी और कम खाने  बाद भी वजन बढ़ता तो इसका सम्बन्ध चयापचय से हो सकता है।  मेटाबोलिज्म शरीर के अंदर हमेशा चलती रहती है और इसके लिए ऊर्जा यानि कैलोरी की आवश्यकता होती है।  इसके अंतर्गत भोजन को पचाना, सेल्स की रिपेरिंग आदि शामिल है। यह भूख हार्मोन ग्रेलिन को बढ़ावा देने और पूर्णता हार्मोन लेप्टिन को कम करने के लिए भी दिखाया गया है ।

  मेटाबोलिज्म कैसे बढ़ाये - how to increase metabolism in hindi

अपने भोजन करने का एक समय बना लें।  संतुलन एहने से चयापचय दर भी संतुलित रखने में मदद मिलती है। 

रात के समय चयापचय दर सबसे धीमी होती है।  क्योंकि इस समय न हम कोई कार्य कर रहे होते है और न खा रहे होते है।  यदि हम सुबह भी नहीं खाएंगे तो शरीर का मेटाबोलिज्म धीरे ही रहेगा और जिससे अधिक कैलोरी बर्न नहीं होगी ।  इसलिए सुबह कम से कम 300 कैलोरी का नाश्ता अवश्य करें।  

पूरे दिन में बीच-बीच में 2 मिनट चलना, अधिक बैठने की जगह खड़े रहना, कोई करना शामिल हो सकता है।  

मेटाबोलिज्म कम होने के लक्षण- metabolism kam hone ke lakshan 

मेटाबोलिज्म कम होने से शरीर में निम्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होती है -

कोलेस्ट्रॉल बढ़ना 

वजन बढ़ना 

समय पर पीरियड्स न होना 

अवसाद (डिप्रेसन)

बॉडी में सूजन होना 

हाथ-पैरो में दर्द 

त्वचा का रुखा होना 

हर समय थकान 

कमजोरी होना 

मेटाबोलिज्म अधिक बढ़ने के लक्षण -  metabolism jyada hone ke lakshan


चयापचय अधिक होने से इस प्रकार की दिक्कते होती है -

हार्टबीट अधिक होना 

वजन अधिक कम होना

बॉडी का गर्म रहना 

हाइपोथयरॉइडिस्म (थाइरोइड हार्मोन का बढ़ना)


मेटाबोलिज्म बढ़ाने के उपाए - easy ways to increase(boost) metabolism in hindi

 यहाँ बताये गए कुछ तरीको से मेटाबोलिज्म रेट को बढ़ाने में मदद मिल सकती है।  इस लेख

नाश्ते में लें प्रोटीन और कार्ब्स 

अपने ब्रेकफास्ट में अधिक फैट युक्त रखने की जगह कोशिश करे कि वह प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट और फाइबर युक्त हो, प्रोटीन पेट को काफी देर तक भरा हुआ रखता है।  वसायुक्त नाश्ता जल्दी पचता है और भूख को बढ़ाता है।  नाश्ते में ऑमलेट, उपमा, ओट्स, अंडे, ब्रॉउन ब्रेड, चोकर युक्त रोटी खा सकते है। सबसे अधिक प्रोटीन किन-किन चीज़ों में पाया जाता है - protein chart in hindi

तनाव न लें  

तनाव न ले यह भी मेटाबोइलजम को बिगाड़ता है।  तनाव अधिक लेने से कार्टिसोल नामक हार्मोन्स निकलता है जिससे हमारी भूख की छमता बढ़ने लगती है और मेटाबोलिज्म धीमा हो जाता है। 

मेटाबोलिज्म बढ़ाये बिटामिन बी 

अपनी मेटाबोलिक रेट बढ़ाने के लिए अपने दैनिक आहार में विटामिन बी  के समूह को शामिल करें जो कि अंडे, केले, साबुत अनाज, संतरे के जूस, दूध आदि में पाया जाता है। 

मसल्स खुद को बनाये रखने लिए 6 कैलोरी का उपयोग करते है।  फैट कम करने वाले कसरत को शुरुवाती एक मिनट तेज से शुरू करे फिर आराम करे ऐसा कम से कम 5 बार करे। इससे चयापचय सिस्टम को धीरे-धीरे इसे बढ़ा सकते है। vitamin b12 benefits in hindi - विटामिन बी 12 के फायदे और स्रोत सेहत के लिए


अच्छी नींद लें 

जब किसी व्यक्ति को बहुत कम नींद आती है, तो उसके शरीर से घ्रेलिन नामक हार्मोन निकलता है, जिससे व्यक्ति को भूख लग सकती है। यह कम लेप्टिन भी छोड़ता है, एक हार्मोन जो एक व्यक्ति को पूर्ण महसूस करने में मदद करता है। दिन में न सोये इससे कैलोरी खर्च होती है लेकिन यदि दिन में सोना मज़बूरी है तो दोपहर के खाने में कम कैलोरी ग्रहण करें। 

पानी पी कर मेटाबोलिज्म फिट करें  

सिर्फ पानी पीने से ही वर्ष  5 पौंड (17400कैलोरी ) वजन  कर सकते है।  प्रतिदिन करीब डेढ़ लीटर पानी पीने से मेटाबोलिज्म में वृद्धि होती है।  

फ्रेश हर्बल पेय पिए 

शुगर युक्त पेय पीने से अच्छा है कि ग्रीन टी या हर्बल पेय पिये यह फ्रेश बिना ऐडड शुगर वाले ड्रिंक्स पिए।  नीबू पानी, नार्मल वाटर आदि।

मेटाबोलिज्म बढ़ाने वाले आहार - food to boost metabolism in hindi

यदि हम अपने दैनिक भोजन  में इन्हें शामिल करें तो हमारी चयापचय क्रिया बढ़ सकती है और वजन कम हो सकता है -

दूध (milk)

एक कप दूध में करीब 10 ग्राम प्रोटीन होता है साथ ही इसमें कैल्शियम की अच्छी मात्रा होती है। दूध जल्दी पचता नही जिससे भूख जल्दी नही लगती है।

शतावर(asparagus)

 इसे किसी भी तरह खाइये यह मेटाबोलिक सिस्टम हो बेहतर रखता है। इसे सलाद में भी डालकर खा सकते है।   

एवाकाडो (avacado)

अवाकाडो प्रोटीन युक्त है इसमें करीब 4 ग्राम प्रोटीन और 9 प्रकार के एमिनो एसिड्स होते है।    

दही (yogurt)

दही पाचन तंत्र को सही रखने में मदद करते है।  इसमें प्रोटीन और प्रोबायोटिक होता है।  

मसूर दाल (lentils)

इसमें प्रोटीन के साथ फैटी एसिड्स भी होते है जो कार्बोहायड्रेट को जलाते है। 

चकोतरा (grapefruit)

संतरे जैसा दिखने वाला इस फल में मिनिरल्स, विटामिन सी भरपूर यही पाचन क्रिया एवं वेट लूज़ करने का कार्य करती है। 

इसके अलावा मछली, बीन्स, नट्स भी चयापचय को बेहतर बनाने में सहायक है। 

निष्कर्ष 

 मेटाबोलिज्म बढ़ाने के तरीके सामान्य रूप बताये गए है सभी तरीको को कुछ महीने अपनाना होगा तभी फर्क दिखेगा।


यह भूख हार्मोन ग्रेलिन को बढ़ावा देने और पूर्णता हार्मोन लेप्टिन को कम करने के लिए भी दिखाया गया है ।