जल्दी वजन कैसे बढ़ाये - Fast weight gain diet plan tips in hindi

जल्दी वजन कैसे बढ़ाये - Fast weight gain diet plan tips in hindi
वजन कैसे बढ़ाये 



 वजन बढ़ाने या मोटे होने का यह अर्थ बिलकुल भी नहीं है कि आप अनहेल्दी, तला, भुना खाना शुरू कर दे, इससे न सिर्फ आपकी तबियत बिगड़ जाएगी बल्कि डायबिटीज़ और ब्लड प्रेसर हो जायेगा। इसकी जगह आपको प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट युक्त आहार, फ्रूट्स और सप्लीमेंट लेने होंगे।  लेकिन उससे पहले  कुछ टिप्स को जानने चाहिए जिनकी  मदद से आप सही वजन पा सकते है-


कम वजन का अर्थ - meaning of underweight or low weight in hindi

एक व्यक्ति यदि BMI इंडेक्स में 18. 5 से  24. 9 में  है तो वह स्वस्थ है लेकिन यदि वह 18. 5 से कम है तो वह अंडर वेट है। कम वजन होने से भी काफी समस्याएं आ सकती है जैसे -


थकान (fatigue)
जी मिचलाना 
बाल और त्वचा की समस्या 
कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली
ऑस्टियोपोरोसिस
बांझपन
शारीरिक विकास की समस्या  
संक्रमण का खतरा बढ़ना


 वजन न बढ़ने के कारण - causes of low weight or underweight in hindi

वजन न बढ़ने के कुछ अन्य कारण भी होते है जो इस प्रकार है -

यदि आपके परिवार में सभी लोगो का वजन कम ही रहा है तो बहुत हद तक आपका भी वजन कम हो सकता है।


जिनकी उपापचयी क्रिया तेज होती है वे भी अधिक वजन नहीं बढ़ा पाते हैं।


बाल्यावस्था से ही पोषण पर ध्यान न देना। 


कुछ विशेष प्रकार के रोग से ग्रस्त होने पर भी वजन नहीं बढ़ता है जैसे एंग्जायटी।  ऐसे में व्यक्ति खान-पान पर अधिक ध्यान नहीं दे पाता है। 


जल्दी वजन बढ़ाने के लिए टिप्स- beginner diet plan tips for fast weight gain in hindi

वजन कम होना हाई मेटाबोलिज्म के वजह से भी होता है इसलिए आपको थोड़ी हाई कैलोरी लेने होगी।  साथ ही ऊर्जा को कम खर्च करना होगा।  यहाँ आपको वेट गेन करने के कुछ टिप्स दिए गए है -

मानसिक रूप से तैयार होना (Mentally prepared)

आपको अंडर वेट से निकलकर सही वजन पाना है तो आपको इसे लक्ष्य की तरह लेते हुए मानसिक रूप से तैयार होना पड़ेगा क्योंकि यह धीरे चलने वाली प्रक्रिया है और आपको इसमें अपने खान -पान में बदलाव करने होंगे। आपको एक गोल सेट करना होगा की आपको प्रति सप्ताह या महीने में कितना वजन बढ़ाना है।

 प्रोटीन युक्त आहार (Protein rich diet)

आहार में प्रोटीन की सही मात्रा से मांसपेशियों के विकास में  समर्थन होता है। शरीर के वजन के लिए  0.8 ग्राम प्रोटीन का प्रतिदिन सेवन करने से व्यक्ति की मांसपेशियों में वृद्धि होती है । यह स्वस्थ वजन बढ़ाने के लिए आवश्यक है। प्रोटीन में उच्च खाद्य पदार्थों में अंडे, मीट, ओमेगा 3 फैटी, मछली, ड्राई नट्स और फलियां शामिल कीजिए। 


  ( 17 फायदे ओमेगा 3 फैटी एसिड के)


हाई-कैलोरी युक्त शेक पीएं (Drink high-calorie smoothies or shake)


छोटी भूख वाले लोगों को  अधिक भोजन की तुलना में अधिक कैलोरी शेक या स्मूदी ले सकते  है। ये तत्व-कैलोरी प्रदान करते हैं और व्यक्ति को अधिक भरा हुआ महसूस नहीं होता  है। आप अखरोट का मक्खन, फल, दूध, दही, नट्स आदि ले सकते है । पाईन नट्स का भी सेवन करिये।


चिलगोजा के फायदे और नुकसान)

रेशेदार हेल्दी कार्बोहाइड्रेट लें  (Foods rich in fibrous carbohydrates and healthy fats)

स्वस्थ आहार में संतृप्त वसा को सीमित करना चाहिए और अतिरिक्त ट्रांस वसा से बचना चाहिए। अपने भोजन में फाइबर, स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट से  भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करने से आहार में कैलोरी और पोषक तत्वों दोनों की संख्या बढ़ाने में मदद मिलेगी।  ।



मक्खन की जगह घी का प्रयोग 


वजन बढ़ाना है तो मक्खन की जगह घी खाये।  घी सेचुरेटेड फैट है जो बॉडी को अधिक नुकसान नहीं करती है। 

 वजन बढ़ाने वाले कसरत करें  ( focus on muscle building workouts)

यदि आपका वजन बहुत कम है तो कार्डिओ के जगह पर आपको मसल्स बनाने वाली एक्सरसाइज पर ध्यान देना चाहिए।  कार्डिओ या ऐसी कोई एक्सरसाइज न करे जिसमे में अतिरिक्त कैलोरी जलती है। आप पुशअप, स्क्वैट्स कर सकते है। 


खाने से पहले थोड़ा टहले (Take a walk before dinner)

यदि खाने से पहले थोड़ा टहलते है तो आपको भूख अच्छे से लगेगी इससे आप थोड़ा अधिक खा सकते है।  टहलने से आपकी अधिक कैलोरी नस्ट नहीं होगी। साथ ही एक बार में न खाकर दिन में तीन बार खाये।


मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक घरेलू तरीके 


मोटा होने या वजन बढ़ाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक तरीके भी अपना सकते है जैसे -

सुबह दूध के साथ केला खाये।  यह सबसे आसान तरीका है। 

सफ़ेद मूसली को लोग वजन को बढ़ाने के लिए उपयोग करते है इससे मसल्स मजबूत होती है। इसके पाउडर को दूध के साथ सेवन करिये। 

वजन बढ़ाने के लिए योग   


वजन बढ़ाने के लिए अच्छे डाइट के साथ योग भी कर सकते है -


ऐसे आसन करे  आपकी बॉडी को स्ट्रेच करे जैसे -

हलासन, पादगुस्थासन, धनुरासन, शवासन, भुजंगासन, मत्यासन। 

शतावरी ले यह वजन को संतुलित रखता है। 

सौंफ खाये यह भूख को बढ़ाता है और भोजन को अच्छे से पचाता भी है। 

 

वजन बढ़ाने के लिए डाइट प्लान चार्ट(Diet plan chart for weight gain in hindi)

  यहाँ दिए गए डाइट चार्ट के अनुसरण करने से वजन बढ़ा सकते है इसे कुछ महीनो तक फॉलो करे -



 सुबह (5 से 6  बजे ) -         

4 से 5 भीगे बादाम(shoaked almond)


  नाश्ता(7 से 9 बजे ) -           

मलाई वाला एक ग्लास दूध और  एक छोटी कटोरी दलीया(बिना चीनी)  या  अंकुरित चने, पोहा, उपमा, ऑमलेट, 2 उबले अंडे  अथवा   एक केला या 2 पीस सैंडविच या टोस्ट या फिर 2 पराठे दही के साथ।                         


दोपहर(11 से 12 बजे) -       

एक ग्लास बिना नमक का जूस साथ में उबले आलू के साथ सलाद जैसा कुछ भी।


लंच (1:3 0 से 2:30 बजे ) -     

दाल, सब्जी ( जो रिफाइंड आयल या ऑलिव आयल में पकी हो),
एक कटोरी दही या रायता (बिना फैट का ),
करी/फिश /टोफू /चीज़
 सलाद,  2 या 3 रोटी और एक कटोरी चावल (ब्राउन चावल हो तो जयादा अच्छा ),

 पानी खाने के 15 से 20 मिनट बाद पिए।


शाम(5 से 6 बजे ) -           

 एक ग्लास जूस या सूप या कोई शेक, साथ में 1 या 2 केले या चीज़ सलाद।


रात(डिनर ) -                          

कोई भी हरी सब्जी या जिसमे पनीर/ सोयाबीन/चने/राजमा,
2 या 3 रोटी।
पानी खाने के 15 से 20 मिनट बाद पिए।

सोने से पहले -                      

गिलास फुल क्रीम दूध




डॉक्टर से अपने वजन कम होने कारणों का पता लगाए फर उसी के अनुरूप वजन बढ़ाने की तयारी करें।